भारत का पहला कंप्यूटर कौन-सा है, जानें

वर्तमान के आधुनिकता के दौर में हम सभी तकनीक से घिरे हुए हैं। इसी तकनीक का हिस्सा है कंप्यूटर, जिसके माध्यम से हमारे ऑफिस के काम से लेकर निजी काम भी कम समय के साथ आसानी से हो जाते हैं।

यही वजह है कि कंप्यूटर के बिना किसी ऑफिस की कल्पना नहीं की जा सकती है। हालांकि, मौजूदा समय में अब इनकी जगह लैपटॉप ने ले ली है, लेकिन काम वही है। अब सवाल यह है कि क्या आपको भारत के पहले कंप्यूटर के बारे में पता है।

यहां हमारा भारत के पहले कंप्यूटर से मतलब उस कंप्यूटर से है, जिसका निर्माण भारत में किया गया था। इस लेख के माध्यम से हम भारत के पहले कंप्यूटर के बारे में जानेंगे। 

 

यह था भारत का पहला अपना कंप्यूटर

भारत के पहले कंप्यूटर के बारे में बात करें, तो भारत में पूरी तरह से विकसित कंप्यूटर TIFRAC था, जिसकी फुलफॉर्म Tata Institute of Fundamental Research Automatic Calculator थी।

इस कंप्यूटर का निर्माण मुंबई स्थित Tata Institute of Fundamental Research में किया गया था। 

 

कब किया गया था कंप्यूटर का निर्माण

भारत के अपने पहले कंप्यूटर का निर्माण साल 1950 में ही शुरू हो गया था, हालांकि साल 1956 में जाकर यह पूरी तरह से शुरू हो सका। 

 

भारत के पहले प्रधानमंत्री ने दिया था नाम

भारत के पहले कंप्यूटर के विकसित होने पर विज्ञान और तकनीक जगत में खुशी की लहर थी। ऐसे में उस समय भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू यहां पहुंचे और उन्होंने साल 1960 में इस कंप्यूटर को टाटा रिसर्च सेंटर का सम्मान रखते हुए नाम दिया था। 

See also  Latest Viral TikTok Video: Watch the Leaked Video Causing a Buzz on Telegram!

 

27,00 वैक्यूम ट्यूब से बना था कंप्यूटर

अब इस कंप्यूटर के निर्माण की बात करें, तो इस कंप्यूटर का निर्माण 2700 वैक्यूम ट्यूब से किया गया था। इसके अलावा इसमें 17,00 जर्मेनियम डॉयड्स, 12,500 रेजिस्टर्स और 204840-फिट शब्द वाली कोर मेमोरी का इस्तेमाल किया गया था।

इसके ट्यूब वाले भाग को एक बड़े स्टील के बॉक्स में रखा गया था। वहींं, स्क्रीन के लिए Cathode Ray Tube(CRT) का इस्तेमाल किया गया था, जिसके माध्यम से ग्राफ और नंबरों को देखा जा सके। 

 

यह था भारत का पहला डिजिटल कंप्यूटर

भारत के पहले डिजिटल कंप्यूटर की बात करें, तो वह HEC 2M था, जिसका निर्माण ब्रिटिश ने किया था। इस कंप्यूटर का आयात कर कोलकाता स्थित भारतीय सांख्यिकी संस्थान में 1955 में लगाया गया था।

हालांकि, इससे पहले साल भारत ने अपने पहले कंप्यूटर का निर्माण शुरू कर दिया था। 

 

पढ़ेंः भारत के किस शहर को कहा जाता है ‘Royal City’, जानें

Categories: Trends
Source: tiengtrunghaato.edu.vn

Rate this post

Leave a Comment